Топ-100
  • मलंग मलंग

    मलंग 2020 की भारतीय हिंदी -लैंग्वेज रोमांटिक एक्शन फिल्म है, जो मोहित सूरी द्वारा निर्देशित और इसका निर्माण लव रंजन, अंकुर गर्ग, भूषण कुमार, कृष्ण कुमाऔर जे ...

  • अक्षय कुमार (अभिनेता) अक्षय कुमार (अभिनेता)

    अक्षय कुमार के नाम करने के लिए अन्य लोगों अक्षय कुमार देखें. अक्षय कुमार एक भारतीय बॉलीवुड फिल्म अभिनेता हैं । वे 130 से अधिक हिन्दी फिल्मों में काम किया. 90...

  • मार्वल सिनेमेटिक यूनिवर्स की फ़िल्मों की सूची मार्वल सिनेमेटिक यूनिवर्स की फ़िल्मों की सूची

    मार्वल सिनेमेटिक यूनिवर्स की फ़िल्में मार्वल कॉमिक्स द्वारा प्रकाशनों में दिखाई देने वाले पात्रों के आधापर सुपरहीरो फ़िल्मों की एक अमेरिकी श्रृंखला हैं। एमसी...

  • दुखान्त नाटक दुखान्त नाटक

    दुःखान्त नाटक ऐसे नाटकों को कहते हैं जिनमें नायक प्रतिकूल परिस्थितियों और शक्तियों से संघर्ष करता हुआ तथा संकट झेलता हुअ अन्त में विनष्ट हो जाता है।

  • एक्शन फिल्म एक्शन फिल्म

    एक्शन फिल्म एक फ़िल्मी विधा है, जिसमें एक अथवा अधिक नायक चुनौतियों की एक श्रृंखला का सामना करते रहते हैं जो आदर्श रूप से शारीरिक रूप से पूर्ण कारनामे, विस्ता...

  • नाटक नाटक

    नाटक, काव्य और गध्य का एक रूप है। जो रचना श्रवण द्वारा ही नहीं अपितु दृष्टि द्वारा भी दर्शकों के हृदय में रसानुभूति कराती है उसे नाटक या दृश्य-काव्य कहते हैं...

  • लघु फ़िल्म लघु फ़िल्म

    लघु फ़िल्म विश्वभर में बनते तथा प्रदर्शित होते हैं मजे की बात यह है कि इन्हें प्रदर्शित करने के लिए सेंसर बोर्ड की अनुमति की भी कोई आवश्यकता नहीं होती फिर भी...

  • सुपरहीरो फ़िल्म सुपरहीरो फ़िल्म

    सुपरहीरो फ़िल्म, सुपरहीरो मुवी अथवा सुपरहीरो मोशन पिक्चर वह विषय आधारित फ़िल्म हैं जिनमें एक या उससे कई ज्यादा सुपरहीरो किरदारों के एक्शन पर केंद्रित किया जा...

  • वीभत्स फ़िल्म वीभत्स फ़िल्म

    वीभत्स फ़िल्म एक फ़िल्मी विधा है जो दर्शकों की मौलिक आशंका के साथ खेलते हुए दर्शकों के लिए नकारात्मक भावनात्मक प्रतिक्रिया को प्रकाश में लाकर डर का महौल तैया...

फ़ीचर फ़िल्म

फ़िल्म उद्योग में कथाचित्र या फ़ीचर फ़िल्म उस फिल्म को कहते हैं जिन्हें सिनेमाघरों में वितरित कर व्यापार करने के उद्देश्य से बनाया जाता है।
द एकेडमी ऑफ़ मोशन पिक्चर आर्ट्स, द अमेरिकन फ़िल्म इंस्टीट्यूट और द ब्रिटिश फ़िल्म इंस्टीट्यूट सभी ने 40 मिनट से अधिक देर तक चलने वाली फ़िल्म को फ़ीचर फ़िल्म के नाम से परिभाषित किया है। फ़्रांस में द सेंटर डि ला सिनेमेटोग्राफ़ी के अनुसार 35 मि.मि. की फ़िल्म जो 1.600 से ज़्यादा लंबी हो, जो 58 मिनट 29 सेंकेंड की साउंड फ़िल्म पर सही बैठें और स्क्रीन ऐक्टर गिल्ड जिन्हें 80 मिनट जिन्हें 80 मिनट जिनके चलने का समय कम से कम 80 मिनट दे ऐसी फ़िल्में फ़ीचर फ़िल्म हैं।
सामान्य रूप से एक भारतीय फिल्म 90 से 120 मिनट की होती है। बच्चों की फ़िल्में 60 से 120 मिनट की हो सकती हैं।

image

महाविद्यालय (कॉलेज)

वर्तमान में कॉलेज) शब्द का संयुक्त राज्य अमेरिका में प्रयोग डिग्री प्रदान करने वाले तृतीयक शैक्षणिक संस्थान के लिये किया जाता है एवं अन्य अंग्रेजी भाषी देशों...